Monday, June 27, 2016

ज़िद ..


ज़िन्दगी तू भी तो कमज़र्फ थी, जिद में गुजर गई !
कुछ मैं तुझमें गुजर गया, कुछ तू मुझमें गुजर गई !!