Saturday, April 21, 2012

में हर रिश्ते को  शिद्दत से सर-ए-तस्लीम  करता हूँ
वो मुझ पर फर्ज था उसका बेइरादतन  मुस्कुरा देना